प्यार खुदा की दी हुई एक नेमत है, यह एक खुशनुमा एहसास है ,प्यार गीत है.. गुनगुनाने के लिए , प्यार नगमा है… सुनाने के लिए , प्यार फूलो में सुगंद है , भौरों में तरंग है .

ये कोयल के कुक की तरह है , ये बंसी के मधुर तान की तरह है , प्यार बारिस को बरसते देख नाचते मोर की तरह है

प्यार रेगिस्तान में भटकते चकोर के लिए उस चाँद की तरह है , जिसके इंतजार में वो सारा उम्र गुजर देता है

“किसी ने उस चकोर के लिए ठीक ही गया है , चाँद को क्या मालूम उसे चाहता है कोई चकोर वो बेचारा दूर से देखे करे न कोई सोर “

जब हम प्यार में होते है तो ज़िंदगी बड़ी खूबसूरत हो जाती है , ये ज़िंदगी जीने की वजह बन जाती है ..

प्यार को लफ्ज़ो में ब्या नहीं किया जा सकता ,अलग अलग लोगो के लिए इसके लिए अलग अलग मायने है .

प्यार क्यों जरूरी है –

१. प्यार का एहसास होने से ही ज़िंदगी खूबसूरत होने लगती है

२. प्यार हमे ज़िंदगी जीने की वजह देती है

३. यह हमे दूसरे के लिए जीना सिखाती है

४. प्यार हमारा मार्गदर्सन करती है जिससे हम जिंदगी में आगे बढ़ते है

५. प्यार ज़िंदगी में उस हमसफर की तरह है , जिसके साथ  चलते चलते ज़िंदगी की तमाम उलझने सुलझती चली जाती है

५. प्यार एक ऐसा एहसास है जिसके यादो के सहारे भी हम जी सकते है